Surya Grahan 2024: इस दिन लगेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, जानें भारत में दिखेगा या नहीं

Surya Grahan 2024: इस दिन लगेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, जानें भारत में दिखेगा या नहीं

Surya Grahan 2024: ग्रहण एक खगोलीय घटना है लेकिन धर्म और ज्योतिष शास्त्र में इसका खास महत्व माना जाता है. सूर्य आत्मा का कारक होता है. सूर्य ग्रहण की घटना का प्रभाव पृथ्वी पर रहने वाले सभी जीवों पर पड़ता है. सूर्य ग्रहण को कभी भी नग्न आंखों से नहीं देखना चाहिए. यह आंखों के लिए नुकसानदायक होता है. साल 2024 का सू्र्य ग्रहण जल्द लगने वाला है. जानते हैं इस ग्रहण से जुड़ी सारी जानकारी।

साल का पहला सूर्य ग्रहण इस दिन

Surya Grahan 2024: इस साल का पहला सूर्य ग्रहण 8 अप्रैल को लगेगा. यह ग्रहण रात 09:12 मिनट से मध्य रात्रि 01:25 मिनट तक रहेगा. इस सूर्य ग्रहण की कुल अवधि 4 घंटे 25 मिनट तक रहेगी. 8 अप्रैल को लगने वाला यह ग्रहण मीन राशि और रेवती नक्षत्र में लगेगा. यह ग्रहण एक पूर्ण सूर्य ग्रहण यानी कि खग्रास सूर्य ग्रहण होगा।

कैसे लगता है पूर्ण सूर्य ग्रहण

ग्रहण के दौरान कभी-कभी सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी के बीच ऐसी स्थिति आ जाती है जब चंद्रमा पूर्ण रूप से सूर्य का प्रकाश पृथ्वी तक जाने से कुछ समय के लिए रोक लेता है. इस स्थिति में चंद्रमा की पूर्ण छाया पृथ्वी पर पड़ती है जिससे लगभग अंधेरा सा प्रतीत होता है. सूर्य की यह अवस्था पूर्ण सूर्यग्रहण कहलाती है.

भारत में दिखेगा या नहीं

साल का पहला सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा. 8 अप्रैल को लगने वाला यह सूर्य ग्रहण पश्चिमी यूरोप पेसिफिक,अटलांटिक,आर्कटिक मेक्सिको,उत्तरी अमेरिका (अलास्का को छोड़कर),कनाडा,मध्य अमेरिका,दक्षिण अमेरिका के उत्तरी भागों में, इंग्लैंड के उत्तर पश्चिम क्षेत्र और आयरलैंड में दिखाई देगा. भारत में दिखाई ना देने की वजह से ना तो इसका धार्मिक महत्व होगा और न ही इसका सूतक काल माना जाएगा.

सूर्य ग्रहण के दौरान न करें ये गलतियां

सूर्य ग्रहण के दौरान घर से बाहर बिल्कुल भी नहीं निकलना चाहिए. ग्रहणकाल के दौरान घर पर ही रह कर ईश्वर की आराधना करनी चाहिए. सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को खास ध्यान रखना चाहिए. कोई भी ऐसा कार्य ना करें जिससे आपको शारीरिक समस्या का सामना करना पड़े. गर्भवती महिलाओं को इस दौरान किसी भी नुकीली चीज जैसे कि चाकू,सुई और कैंची के इस्तेमाल से बचना चाहिए. सूर्य ग्रहण के दौरान भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए. ग्रहण काल में भगवान के मंत्रों का जाप करना लाभदायक रहता है।