रिशित ने नेशनल कबड्डी में फहराया परचम

0
● मेहनत मजदूरी करने के बावजूद भी पिता ने किया प्रोत्साहित
● अधिवक्ताओं ने चांदी का मेडल पहनाकर किया सम्मानित
रिशित ने नेशनल कबड्डी में फहराया परचम

औरैया। कहते हैं कि प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती, वह खुद अपनी मंजिल ढूंढ ही लेती है। लेकिन प्रतिभाओं को यदि सही परवरिश मिल जाये तो मंजिल तक पहुंचने की गति को पर तो लग ही जाते हैं वहीं आसमानी बुलंदियां भी काफी हद तक सुनिश्चित हो जाती हैं।

ऐसे ही प्रतिभा और उसकी परवरिश की बानगी में उस समय देखने को मिली जब शहर के सैनिक कालौनी निवासी मेहनत मजदूरी करने वाले एक व्यक्ति के पुत्र ने नेशनल कबड्डी चैम्पियनशिप में पहला स्थान प्राप्त कर सफलता की ऐसी इबारत लिखी कि प्रदेश में ही नहीं बल्कि राष्ट्रीय स्तर पर परचम लहराया।

Also Read -   UP: घर मे पकड़े जाने पर प्रेमिका की माँ से उलझा प्रेमी, मांग मे भर दिया सिंदूर

सैनिक कालोनी निवासी ओमप्रकाश उर्फ चन्दर पुत्र रिशित कुमार ने हाल में ही भोपाल में आयोजित नेशनल कबड्डी में शानदार प्रदर्शन करते हुए बाजी मारी है। उनकी इस सफलता पर शहर में हर्ष की लहर दौड़ गई और बधाई देने का सिलसिला शुरू हो गया। मंगलवार को कचहरी परिसर में मोहम्मद हाशिम एडवोकेट के बस्ते पर अधिवक्ताओं ने जहां रिशित को उनकी मेहनत के लिए माल्यार्पण कर चांदी का मेडल पहनाया तो वहीं उनके पिता ओमप्रकाश को बेहतरीन परिवरिश के लिए बुके भेंट की।

Also Read -   शादी के दिन से ही अप्राकृतिक संबंध बनाता था पति, जब पीड़िता ने देवरानी को बताया तो..

अधिवक्ताओं ने इस दौरान मिष्ठान वितरण भी किया। रिशित बताते हैं कि बचपन में जब वह विद्यालय में अन्य छात्रों को कबड्डी खेलते देखते थे तो उनके मन में भी इसके प्रति उत्साह बढ़ा जिसके बाद उन्होंने कबड्डी खेलनी शुरू की और आज यहां तक पहुंचे हैं। बताया कि उनकी सफलता के पीछे उनके प्रेरणादायक माता-पिता एवं उनके कोच का हाथ है।

वहीं उन्होंने सबसे बड़ी बात यह बताई कि आज के समय में अधिकांश लोग अपने बच्चों को अध्ययन के प्रति खींचते हैं। जबकि मेहनत मजदूरी करने के बावजूद भी उनके पिता ने उन्हें कभी खेलने से नहीं रोका। उन्होंने हमेशा यही कहा कि जिस ओर तुम्हारा ज्यादा मन लगता हो तुम वही करना। बताया कि वह बीएससी प्रथम वर्ष का छात्र भी है।

Also Read -   इटावा: रेलवे स्टेशन पर इंक्वायरी काउंटर से हुआ डिंपल यादव जिंदाबाद नारे का एनाउंसमेंट, फिर

इस सम्मान कार्यक्रम में अधिवक्ता मो0 हाशिम के अलावा ओमनारायण मिश्रा, अरूण पाण्डेय, सुरेश कुमार मिश्रा, जितेन्द्र सेंगर, रत्नेश कुमार मिश्र, शिशिर तिवारी, मो0 तैय्यब, इकरामुल, इश्तियाक मंसूरी समेंत आदि अधिवक्ताओं समेंत मो0 कासिम, फरीद, कोहिनूर, शालिया आदि कोर्ट मुहर्रिर भी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here