मां-बेटे और बेटी की अवैध संबंध में हत्या की आशंका, दामाद की तलाश में जुटी पुलिस

0

वाराणसी। जिले के राजातालाब थाना अंतर्गत मिल्कीपुर गांव में बीती रात एक ही परिवार के तीन सदस्यों की हत्या कर दी गई। हत्या करने के बाद हत्यारा पिछले दरवाजे से फरार हो गया। गुरुवार की सुबह घटना की जानकारी मिलने के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना मिलने के बाद इलाकाई पुलिस के साथ ही आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। बताया जा रहा है कि घटना के बाद से ही दामाद फरार है। अधिकारियों द्वारा आशंका जताई जा रही है कि अवैध संबंधों के चलते हत्या की गई है।

पति और बड़ा बेटा रहते हैं अलग
जानकारी अनुसार मिल्कीपुर गांव निवासी 55 वर्षीय रानी गुप्ता का उसके पति भोलानाथ गुप्ता के साथ काफी समय से विवाद चल रहा है। ऐसे में रानी गुप्ता का पति बड़े बेटे को लेकर दूसरे गांव में रहता है। वही मिल्कीपुर गांव में रानी गुप्ता अपने छोटे बेटे मोहन गुप्ता (35) और बेटी पूजा गुप्ता (28) तथा दामाद अरविंद गुप्ता के साथ रहती थी। बीती रात में किसी समय हत्यारे द्वारा रानी गुप्ता, पूजा गुप्ता और मोहन गुप्ता की निर्मलता पूर्वक हत्या कर दी गई। हत्या करने के बाद पिछले दरवाजे से हत्यारा फरार हो गया। आज सुबह में जब रानी गुप्ता के घर से कोई आहट नहीं सुनाई दी तो आसपास के लोग जानकारी लेने के लिए पहुंचे। पहुंचने के बाद कमरे में रानी गुप्ता की लाश दरवाजे के समीप देखकर लोग दंग रह गए उसके बाद पुलिस को सूचना दिए। पुलिस पहुंची तो तीन लाश मिलने के बाद इलाके में सनसनी फैल गई।

Also Read -   नाबालिक दलित लड़के से मारपीट कर पैर छूने के लिए किया मजबूर

घटनास्‍थल से हसिया और डंडे बरामद
घटना की सूचना मिलने के बाद राजातालाब थाने की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। जांच पड़ताल में पाया गया कि बेरहमी से तीनों की हत्‍या की गई है। घटनास्थल के समीप से एक हसिया और एक डंडा बरामद किया गया। बताया जा रहा है कि हसिया और डंडे में खून लगे हुए थे। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि हत्या करने के लिए हत्यारी द्वारा हसिया और डंडे का इस्तेमाल किया गया होगा। वहीं तीन लोगों की हत्या की सूचना मिलते ही जिले में हड़कंप मच गई। घटनास्थल पर अपर पुलिस आयुक्त अपराध/मुख्यालय संतोष कुमार सिंह व डीसीपी गोमती जोन विक्रांत बीर भी पहुंचे। इसके अलावा घटनास्थल पर जांच-पड़ताल करने के लिए फॉरेंसिक टीम भी पहुंची। घटनास्थल पर साक्ष्य संकलन करने के साथ ही डाग को जब घटनास्थल से छोड़ा गया तो वह गंध सूंघते हुए सड़क से होते हुए खेत में और फिर गांव की तरफ गया। फिलहाल टीम द्वारा दोपहर बाद तक जांच पड़ताल चलती रहीं।

Also Read -   पुलिस की गुंडागर्दी, तराजू को रेलवे पटरी पर फेंका, उठाते समय ट्रेन से सब्जीवाले के कटे पैर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here