UPI Transaction Limit: मोबाइल से पेमेंट करने की बदली लिमिट, UPI से इतना ही कर पाएंगे ट्रांजैक्शन

0
UPI Transaction Limit: मोबाइल से पेमेंट करने की बदली लिमिट, Phone Pe, Paytm और Google Pay इतना ही कर पाएंगे ट्रांजैक्शन

UPI Transaction Limit : डिजिटल लेनदेन की अब एक लिमिट तय हो गई है। हालांकि, अब मोबाइल से धड़ाधड़ पेमेंट नहीं कर पाएंगे। इसमें तय किया गया है कि आप 1 दिन में कितना भुगतान कर सकते हैं। साथ ही हर घंटे में कितना ट्रांजैक्शन कर पाएंगे, इसकी भी सीमा तय कर दी है।

एक नजर में समझें यूपीआई पेमेंट सिस्‍टम
यूपीआई (UPI) का पूरा नाम यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस है। दरअसल, यूपीआई एक पेमेंट सिस्‍टम टेक्‍नालॉजी है। इसने कैशलेस पेमेंट को बहुत आसान बना दिया है। वहीं, यूपीआई पेमेंट सिस्टम (UPI Payment System) का बैंक टू बैंक रियल टाइम भुगतान करना है। यानी आप इसका इस्‍तेमाल कर तुरंत एक-दूसरे से भुगतान कर सकते हैं, इसका चलन बढ़ता ही जा रहा है।

Also Read -   1 जनवरी से बंद हो जायेंगे 2000 रुपये के नोट, अब चलेगा 1000 रुपये का नोट, जानिए आखिर क्या है बात

पेटीएम से 1 लाख का भुगतान प्रतिदिन
नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) की गाइडलाइंस के मुताबिक, यूपीआई से हर दिन 1 लाख रुपये का लेनदेन किया जा सकता है। प्रत्‍येक बैंक ने अलग-अलग दैनिक लिमिट तय कर रखी है। यूपीआई पेमेंट के लिए पेटीएम ऐप को ज्यादातर लोग इस्तेमाल करते है। इस ऐप पर एक दिन में भुगतान की अधिकतम सीमा 1 लाख रुपये तक है। पेटीएम पर एक दिन में 20 ट्रांजैक्शन ही कर सकते हैं।

Also Read -   दुल्हन के सच ने उड़ा दिए दूल्हे के होश, थाने पहुंचा FIR कराने.. बोला- बीवी मेरा मर्डर कराने वाली है !

फोनपे और गूगलपे पर है इतनी लिमिट
वहीं, पेटीएम पर यूपीआई पेमेंट की अधिकतम सीमा घंटे के हिसाब से अलग-अलग है। पेटीएम पर 1 घंटे में 20 हजार रुपये से ज्यादा ट्रांसफर नहीं कर सकते हैं। हर घंटे अधिकतम 5 यूपीआई ट्रांजैक्शन ही कर सकते हैं। वहीं, फोनपे और गूगल पे से एक दिन में 1 लाख रुपये का भुगतान कर सकते है। गूगल पे पर एक दिन में 10 ट्रांजैक्शन की सुविधा है। फोनपे पर यह सीमा बैंक के हिसाब से 10 या 20 तक है। इन दोनों ऐप पर घंटे के हिसाब से कोई लिमिट तय नहीं है।

Also Read -   दुल्हन की सहेली ने कर दी ऐसी हरकत, वीडियो देखकर आप भी कहेंगे, हो गई बेज्जती

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here