GST टीम ने बिरयानी के ठेले पर मारा छापा, तौल और गल्ला देखा, जमा कराया 24 लाख का टैक्स

0

आगरा। राज्य कर विभाग ने बालूगंज में बिरयानी की ठेलों पर छापामारी की हैं। बिरयानी की ठेलों पर कार्रवाई कर बिक्री का रिकार्ड लिया गया हैं। बालूगंज व रकाबगंज में आटो पार्ट्स व हेलमेट विक्रेताओं समेत 14 जगहों पर छापामारी की हैं।

टर्नओवर अधिक होने पर भी रजिस्ट्रेशन नहीं करा रहे – राज्य कर विभाग द्वारा अधिक टर्नओवर के बावजूद पंजीकरण नहीं कराने वाली इकाइयों के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान चलाया जा रहा है। विभाग के अपर आयुक्त ग्रेड वन अजय कुमार सिंह के नेतृत्व में बुधवार को एसजीएसटी की टीमों ने 14 स्थानों पर छापामारी की हैं। सुबह 10 बजे शुरू हुई कार्रवाई देर शाम तक चली।

दिनभर में बेची जाने वाली बिरयानी व आय की ली जानकारी – बालूगंज स्थित पेट्रोल पंप के पास ठेल लगाकर बिरयानी बेचने वाले करीब आधा दर्जन लोगों से विभागीय टीमों ने पड़ताल कर जानकारी जुटाई हैं। उनसे एक दिन में बेची जाने वाली बिरयानी व उनकी आय के बारे में सवाल पूछे गए। टर्नओवर अधिक होने का हवाला देकर उन्हें पंजीकरण कराने की ताकीद की गई हैं। टीम ने इसके अलावा बालूगंज व रकाबगंज में पार्ट्स व हेलमेट विक्रेताओं के यहां छापामारी की हैं।

Also Read -   बॉयफ्रेंड बनाने से नाराज घर वालों ने लड़की को मार डाला, फिर दूसरी बहन ने पहुँचा दिया जेल, फिर

24 लाख रुपये जमा कराया कर – राज्य कर विभाग ने मंगलवार को 13 स्थानों पर जांच की थी। विभाग ने जांच के बाद कर के रूप में 24 लाख रुपये जमा कराए। इसमें ताज इंटरप्राइजेज से आठ लाख रुपये जमा कराए गए। विभाग का अभियान निरंतर जारी रहेगा।

तौली बिरयानी, गल्ला देखा – राज्य कर विभाग के अधिकारियों ने बिरयानी की ठेल लगाने वालों से बिक्री के बारे में जानकारी की हैं। ठेला वालों ने आमदनी कम होने का हवाला देकर किसी तरह खर्चा चलने की बात कही। टीम ने बिरयानी के दाम और गल्ले में मिले रुपयों के आधार पर बिक्री का अनुमान लगाया। बेचने को रखी गई बिरयानी भी तुलवाई। चालान कर पंजीकरण कराने के निर्देश दिए।

Also Read -   इटावा: रेलवे स्टेशन पर इंक्वायरी काउंटर से हुआ डिंपल यादव जिंदाबाद नारे का एनाउंसमेंट, फिर

250 से 300 रुपये की कमाई – बालूगंज में 30 वर्ष से बिरयानी की ठेल लगाने वाले ताजगंज के रईसुद्दीन ने कहा कि दिनभर मेहनत करने के बाद वह 250 से 300 रुपये कमा पाते हैं। उनकी छह बेटियां और एक बेटा है। वह हमेशा कानून का पालन करते हैं। टीम ने पंजीकरण कराने को कहा है, वह पंजीकरण करा लेंगे।

Also Read -   मुख्यमंत्री योगी ने रातों रात दिया सख्त निर्देश, 15 नवम्बर तक गड्ढामुक्त हों उत्तर प्रदेश की सड़कें

एक ठेल वाला एक दिन में आमतौर पर दो भगौने तक बिरयानी बेच देता है। एक भगौने में 20 से 25 किग्रा तक बिरयानी आती है। यह 200 से 250 रुपये किग्रा तक बेची जाती है। बिना कर दिए आठ से 10 हजार रुपये प्रतिदिन की बिक्री बिरयानी की ठेल लगाने वाला कर रहा है। इस पर उसे औसतन प्रतिदिन ढाई से तीन हजार रुपये की कमाई हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here