गरुड़ पुराण: मृत्यु से पहले मनुष्य की क्यो बंद हो जाती है आवाज, जाने इसका पूरा सच !

0

गरुड़ पुराण: जीवन का सबसे बड़ा सत्य जन्म और मृत्यु है और ये दोनों कब और कहां हो जाएं ये कहना किसी ज्योतिषी के भी बस में नहीं है। इंसान का जब जन्म होता है तो सबसे पहले मां को उसकी जानकारी हो जाती है।

उसके पेट में पल रहा बच्चा दुनिया में आने के लिए तैयार है। वहीं इंसान अपने अंत यानि मृत्यु से पहले उसके साथ क्या कुछ होता है यह तो वहीं व्यक्ति जानता है, जिसकी मृत्यु होने वाली होती है।

महाभारत में भगवान श्रीकृष्ण ने बताया है कि जीवन और मृत्यु दुनिया का सबसे बड़ा अटल सत्य है। जिसने इस दुनिया में जन्म लिया है, उसकी मृत्यु होना भी निश्चित है। इस दुनिया में अमर कोई भी व्यक्ति नहीं रहता है। अगर कोई अमर है तो वो केवल आत्मा है।

Also Read -   झाड़ू को छिपाकर रखने से दूर हो जाती है पैसों की तंगी, वास्तु शास्त्र में यह उपाय हैं बहुत कारगर

वहीं इस सत्य को जानते हुए भी मनुष्य मृत्यु से ही सबसे अधिक डरता है। कोई भी व्यक्ति किसी जानवर से या किसी चीज से इतना नहीं डरता है, जितना की मौत के आने से डरता है। परन्तु फिर भी मौत तो आनी ही है, ये कभी भी और कहीं भी आ सकती है। मौत कभी भी किसी भी व्यक्ति को आने से पहले बताती नहीं है। कहते हैं कि मौत आने से कुछ लम्हे पहले ही मनुष्य को यमराज दिखाई देने लगते हैं। कई बार लोग बताते हैं कि, उनके संबंधी मरने से पहले बता रहे थे कि यम उन्हें लेने आ गए हैं। ऐसी बातों को सुनकर बहुत आश्चर्य भी होता है।

Also Read -   Chanakya Niti: जीवन मे कभी भी न करें इन लोगो की मदद, नही तो हो जाओगें बर्बाद

वहीं मृत्यु के समय एक बात और भी हैरान करती है, वो है मृत्यु से पहले व्यक्ति की आवाज बंद हो जाती है और उस दौरान वह बोल नहीं सकता है। आखिर ऐसा क्यों होता है।

ऐसी पौराणिक मान्यता है कि जब मृत्यु की घड़ी निकट आती है तो यम के दो दूत मरने वाले प्राणी के सामने आकर खड़े हो जाते हैं। उन्हें देखकर प्राणी घबरा जाता है और चाहकर भी वह अपनी जुबान खोल नहीं पाता है। वह बोलने की कोशिश तो बहुत करता है, लेकिन उसके गले से घर्र-घर्र की आवाज के अलावा कुछ भी नहीं निकलता है। यमदूत यमपाश से जब उसके प्राण खींचने लगते हैं तो उसे पूरे जीवन में उसने जो भी कर्म किए हैं, वो सारी घटनाएं उस व्यक्ति की आंखों के सामने एक-एक करके तेजी से किसी वीडियो की तरह आने लगती हैं और वह सारी घटनाएं एक क्रम में उस आत्मा के साथ जुड़ जाती हैं।

Also Read -   शनिवार के दिन खिचड़ी खाने से दूर होता है शनिदोष, मिलते है 10 फायदे, जानकर हो जायेंगे हैरान ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here