PM Kisan: 13वीं क़िस्त से पहले 2 करोड़ किसानों के कटे नाम, PM Modi ने दी जानकारी!

0
PM Kisan: 13वीं क़िस्त से पहले 2 करोड़ किसानों के कटे नाम, PM Modi ने दी जानकारी!

PM Kisan Samman Nidhi Yojana: प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की 13वीं किस्त को लेकर बड़ा अपडेट सामने आया है। सरकार ने जानकारी दी है कि देश के करीब 1.86 करोड़ किसानों को 13वीं किस्त का पैसा नहीं मिलेगा। सरकार ने लिस्ट जारी कर इस बारे में जानकारी दी है।

2 करोड़ किसानों का हटा नाम
केंद्र सरकार ने 12वीं किस्त के बाद में किसानों के डाटा को क्लीन करने के लिए आधार-लिंक वाले फिल्टर को अप्लाई किया, जिसके बाद पता चला कि पिछले 6 महीनों में करीब 2 करोड़ किसानों का नाम लिस्ट में हट गया है।

Also Read -   केंद्रीय कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले, DA में बढ़ोतरी के साथ मिलेंगे ये तोहफे

नए साल पर आएगी 13वीं किस्त
आपको बता दें 11वीं किस्त का फायदा करीब 10.45 किसानों को मिला था. वहीं, 12वीं किस्त का फायदा सिर्फ 8.58 करोड़ किसानों को मिला है। सरकार नए साल में किसानों के खाते में 13वीं किस्त का पैसा ट्रांसफर करेगी।

कई राज्यों के किसानों के नाम हटे
आधार लिंक वाले फिल्टर के बाद में यूपी के करीब 58 लाख किसान कम हो गाए है। वहीं, पंजाब के किसानों की संख्या 17 लाख से घटकर 2 लाख रह गई है। केरल और राजस्थान के भी करीब 14 लाख से ज्यादा किसानों के नाम हट गए हैं। इसके अलावा कई राज्यों में किसानों के नाम कम हो गए हैं। कृषि मंत्रालय ने किसानों के डाटा को ट्रांसपेरेंट बनाने के लिए कई फिल्टर बनाए हैं, जिससे कि सिर्फ पात्र किसानों को ही इस स्कीम का फायदा मिले।

Also Read -   दीपिका पादुकोण की भगवा बिकिनी पर मचा बवाल, एक्ट्रेस के कपड़ो पर जताई आपत्ति, नही होने देंगे रिलीज का ऐलान

किन लोगों के हटाए गए हैं नाम
सरकार की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक, जो भी किसान संवैधानिक पदों पर काम कर रहे हैं या फिर कर चुके हैं उन किसानों को इस स्कीम का फायदा नहीं मिलेगा। इसके अलावा पूर्व, मौजूदा मंत्री, सांसद, विधायक, मेयर, पंचायत प्रमुख को भी फायदा नहीं मिलेगा। राज्य या फिर केंद्र के अवकाश प्राप्त कर्मचारी और वह किसान जिनको मंथली 10,000 से ज्यादा पेंशन मिल रही है।

Also Read -   पार्टी के पूर्व युवा अध्यक्ष बोले- अनुप्रिया पटेल के पैर छूने के लिए 1 लाख रुपए की कटवानी पड़ती है रसीद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here