यहां बेटी की शादी मे दहेज के तौर पर दिए जाते है जहरीले सांप, न देने पर टूट जाता है रिश्ता, जानिए क्या है वजह

0

भारत मे सख्त दहेज कानूनों के बावजूद देश मे हर साल हजारों बेटियों की मौत की खबरें आती रहती है। दहेज के खिलाफ कानून बनने के बाद भी कई जगह दहेज प्रथा का प्रचलन है।

आज भी दुल्हन के पिता अपनी बेटी को दहेज के रूप मे महंगे उपहार देते है। आपने अपने घर या आस-पास देखा होगा कि लोग अपनी बेटियों की शादी पर कर्ज लेते है। और दहेज के रूप मे दूल्हे को कीमती सामान, सोने और चांदी के गहने और नकद देते है। कई पिता भी बेटी की शादी के बाद कर्ज के बोझ तले दब जाते है। लेकिन क्या आपने कभी सुना है कि कोई पिता अपनी बेटी को बिना कोई गहने या उपहार दिए उसकी शादी में जहरीला सांप दे देता है। आपको ये पढ़कर हैरानी हो सकती है लेकिन ये सच है।

Also Read -   अगर आपके पास है ये नोट, तो कमाएं 3 लाख रुपए, इसकी खासियत बनाती है आपको…

मध्य प्रदेश मे एक विशेष समुदाय के पास यह प्रथा हमारे देश में और कही नही है। मध्य प्रदेश मे गौरिया समुदाय के लोग इस परंपरा को निभाते है। इस समुदाय के लोग अपनी बेटियों की शादी पर दूल्हे को दहेज के रूप मे 21 जहरीले सांप देते है। उनका मानना ​​है कि अगर 21 खतरनाक सांप बेटी को दहेज के रूप मे नहीं दिए गए तो बेटी की शादी टूट जाएगी या कोई अपशकुन होगा। इस समुदाय मे यह परंपरा सदियों से चली आ रही है। दरअसल गौरिया समुदाय के लोग जहरीले सांपों को पकड़ने का काम करते है। और यही उनकी आमदनी का जरिया है। यहां लोग जहरीले सांप दिखाते हैं और लोगों से पैसे की मांग करते है। वे सांप का जहर बेचकर भी कमाते है। यही कारण है कि एक पिता अपने दामाद को दहेज के रूप मे एक सांप देता है, ताकि वह इस सांप के माध्यम से कमा सके और परिवार का भरण-पोषण कर सके। और उसकी बेटी को कभी भी खाने-पीने की कमी नही होनी चाहिए।

Also Read -   Jija Sali Ka Video: जूता चुराकर ले गई साली, फिर जीजा ने ऐसा काटा बवाल, सोच नहीं सकते- देखें वीडियो

इस समुदाय के लोगों का कहना है कि बेटी की शादी तय होने के बाद पिता दहेज देने के लिए सांप पकड़ने लगता है। गहुआ और डोमी प्रजाति के जहरीले सांप भी है। कहा जाता है कि ये सांप इतने जहरीले होते है। कि एक बार काटने के बाद इंसान की तुरंत मौत हो जाती है। अगर लड़की के पिता ने समय रहते सांप को नही पकड़ा तो रिश्ता टूट जाता है। विवाह मे दिए गए सांपों को वे अपने घर के सदस्य के रूप मे रखते है। इस समुदाय में सांपों को बचाने के लिए भी सख्त नियम बनाए गए है। यदि उनकी सन्दूक से कोई सांप मर जाता है, तो उस परिवार के सभी सदस्यों को तपस्या के रूप मे अपना सिर मुंडवाना पड़ता है। इसके साथ ही सांप के नाम पर शोक भोज का आयोजन करना होता है। इसलिए ये लोग सभी नियमों का सख्ती से पालन करते है, ताकि सांप को कोई नुकसान न हो। वहीं यहां के बच्चे भी उन जहरीले सांपों से नही डरते, बल्कि उनके साथ आराम से खेलते नजर आते है।

Also Read -   Chorni Ka Video: महिला ने दुकानदार को उलझाकर गायब कर दिया सोने का हार, चोरी का तरीका देखकर उड़ जाएंगे होश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here