संतकबीर नगर: CM योगी ने हवाई सर्वेक्षण कर बाढ़ का लिया जायजा, बाढ़ पीड़ितों को बांटी राहत साम्रगी

0

संतकबीर नगर: मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि धनघटा तहसील क्षेत्र मे नदी तटबंध के उस पार रहने वाले लोगों को हर साल बाढ़ आपदा की स्थिति का सामना करने से बचाने के लिए इस पार सुरक्षित स्थान पर बसाने की कार्ययोजना बनाई जाए।

शासन के अधिकारी इस पर गंभीरता से विचार करें। अक्टूबर माह मे अप्रत्याशित बाढ़ के संकट से जनता को उबारने के लिए सरकार दृढ़ संकल्पित है और इसी के अनुरूप राहत व बचाव कार्य तेजी से आगे बढ़ाए जा रहे है। बाढ़ संकट की इस घड़ी मे सरकार हर पीड़ित के साथ पूरी संवेदनशीलता व तत्परता से खड़ी है। प्रत्येक पीड़ित को हर संभव सहायता उपलब्ध कराई जा रही है।

मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा आज संतकबीरनगर जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद धनघटा तहसील के छपरा मगर्वी मे दिव्यांश पब्लिक स्कूल परिसर मे बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात करने के बाद उनके बीच राहत सामग्री वितरित किया गया। सीएम योगी ने आश्वस्त किया कि आपदा के इस काल मे केंद्र व राज्य सरकार हर पीड़ित व्यक्ति के साथ खड़ी है। बाढ़ पीड़ितों के लिए पर्याप्त मात्रा मे खाद्यान्न व अन्य सामग्री का वितरण कराया जा रहा है। कार्य मे जनप्रतिनिधि व प्रशासन के लोग पूरी तत्परता से लगे है। निर्देश दिया गया है कि अगले 2 से 3 दिन के अंदर हर पीड़ित व्यक्ति तक राहत सामग्री व अन्य जरूरी सहायता उपलब्ध कराते हुए उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया जाए।

Also Read -   डॉक्टर ने महिला को 'अल्‍ट्रासाउंड से पहले दी बेहोशी की दवा', फिर डॉक्‍टर ने महिला से किया रेप

मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि बाढ़ से जिनके मकान क्षतिग्रस्त हो गए है। उन्हें मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत आवास या मकान बनवाने के लिए 1.20 लाख रुपये तत्काल उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। जिन किसानों की फसलें क्षतिग्रस्त हुई है।, सर्वे कराकर उन्हें हम 18 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर की दर से क्षतिपूर्ति देंगे। इसी तरह दुधारू पशु गाय, भैंस आदि के मरने पर 37500, बकरी, भेड़, सूअर के मरने पर 4000, गैर दुधारू पशु ऊंट, घोड़ा आदि के मरने पर 32000, बछड़ा, गधा, टट्टू आदि के मरने पर 20000 रुपये की दर से पशुपालकों को सहायता राशि दी जाएगी। मुर्गी पालकों को हुई क्षति पर प्रति मुर्गी 100 रुपये की दर से सहायता प्रदान की जाएगी।

Also Read -   प्राइमरी स्कूल में बच्चो से धुलवाया टॉयलेट, वीडियो वायरल होते ही मची खलबली

बाढ़ का पानी हटते ही चले स्वच्छता का व्यापक कार्यक्रम।

इस अवसर पर सीएम योगी जी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि बाढ़ का पानी हटते ही स्वच्छता व सैनिटाइजेशन का व्यापक कार्यक्रम चलाया जाए। यह ध्यान रखा जाए कि बीमारी न पनपने पाए। हर स्वास्थ्य केंद्र पर एंटी स्नेक वेनम व एंटी रेबीज इंजेक्शन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए। स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन करने के साथ ही लोगों को स्वच्छता व शुद्ध पेयजल के लिए जागरूक किया जाए। मा0 मुख्यमंत्री जी ने ईश्वर से प्रार्थना की कि सभी लोग जल्द ही आपदा से मुक्त होकर मंगलमय तरीके से दिवाली मनाएं।

Also Read -   बांदा: नाबालिग को अगवा कर किया दुष्कर्म, पीड़िता की माँ बोली- पुलिस पैसे दिलाकर बना रही समझौते का दबाव

इस अवसर पर मा0 सांसद संत कबीर नगर प्रवीण कुमार निषाद, मा0 विधायक सदर अंकुर राज तिवारी, मा0 विधायक धनघटा गणेश चौहान, मा0 विधायक मेहदावल अनिल कुमार त्रिपाठी, मा0 जिला अध्यक्ष भाजपा जगदंबा लाल श्रीवास्तव, जिलाधिकारी प्रेम रंजन सिंह, पुलिस अधीक्षक सोनम कुमार, अपर जिलाधिकारी मनोज कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी अतुल मिश्र, अपर पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह, उप जिलाधिकारी धनघटा रविंद्र कुमार, उप जिलाधिकारी खलीलाबाद अजय त्रिपाठी, उप जिलाधिकारी मेहदावल योगेश्वर सिंह सहित जनपद स्तरीय अधिकारी एवं पुलिस बल आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here